नाइकी 2006 से टीम इंडिया की ऑफिशियल किट स्पॉन्सर है। प्रत्येक 5 साल बाद बीसीसीआई और नाइकी के बीच कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू होता है। सन् 2015 में नाइकी के साथ लगातार तीसरी बार कॉन्ट्रैक्ट हुआ था, जिसकी कीमत 57 मिलियन डॉलर्स थी।
ऑफिशियल किट स्पॉन्सर नाइकी से नाखुश बीसीसीआई ने हाल ही में खामियों की शिकायत कंपनी से की थी। माहोल ये था कि टीम के खिलाड़ियों की नाराजगी के चलते कंपनी से कॉन्ट्रैक्ट भी छीना जा सकता था, जिसके चलते डील को बचाने के लिए नाइकी ने मामले पर गंभीरता दिखाते हुए तुरंत टीम इंडिया को नई जर्सी श्रीलंका भेज दी है। हालांकि दिखने में ये नई जर्सी पहले जैसी ही है मगर इसमें सुपीरियर क्वॉलिटी का कपड़ा प्रयोग किया गया है।


बता दें कि बीसीसीआई अपने ऑफिशियल किट स्पॉन्सर नाइकी से नाखुश थी। नाइकी ने टीम इंडिया को जो हाल ही में किट दी है उसकी क्वालिटी पर सवाल उठाए जा रहे थे। इंडियन एक्सप्रेस के साथ खास बातचीत में बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने बताया था कि जल्द नाइकी के साथ बात की जाएगी। इसके लिए अगले हफ्ते मीटिंग तय कर ली गई है। उम्मीद है कि बैठक से कोई हल निकलेगा।
नाइकी 2006 से टीम इंडिया की ऑफिशियल किट स्पॉन्सर है। प्रत्येक 5 साल बाद बीसीसीआई और नाइकी के बीच कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू होता है। सन् 2015 में नाइकी के साथ लगातार तीसरी बार कॉन्ट्रैक्ट हुआ था, जिसकी कीमत 57 मिलियन डॉलर्स थी।
भारतीय क्रिकेट टीम की नराज़गी आखिर रंग लाई. खिलाड़ियों की शिकायत के बाद ‘नाइकी’ ने टीम इंडिया के लिए नई जर्सी श्रीलंका पहुंचवाईं. मंगलवार को पल्लेकल वनडे से पहले टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी ट्रेनिंग सेशन के दौरान नाइकी की अपनी नई ट्रेनिंग किट में नज़र आए.
कोहली एंड टीम ने हाल ही में ट्रेनिंग किट की क्वालिटी को लेकर सवाल उठाए थे. बोर्ड ने भी माना था कि कपड़ों की क्वालिटी ख़राब थी. बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने कहा था कि टीम के खिलाड़ी नाइकी की किट से नाख़ुश हैं और बोर्ड इस मामले को जल्द ही सुलझाएगा
और आप को बताते चले की 2015 में नाइकी ने 2020 तक किट स्पॉन्सर बने रहने के लिए लगभग 370 करोड़ रुपए में क्रिकेट बोर्ड के साथ करार किया था

Related Post

Comments

comments