लंदन: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने शनिवार को भारतीय सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज पर अपना रुख नरम करे. अफरीदी ने कहा है कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज को दोबारा शुरू किया जाना चाहिए. उनके हिसाब से यह पड़ोसी मुल्कों में तनाव कम करने में मददगार साबित होगी.
अफरीदी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज शांति स्थापित करने में मदद करेगी. शाहिद अफरीदी ने यह कॉलम भारत-पाकिस्तान के बीच रविवार को खेले जाने वाले महामुकाबले से पहले लिखा है. गौरतलब है कि भारतीय सरकार ने सीमा पर जारी विवाद के चलते पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी तरह की द्विपक्षीय सीरीज खेलने की मंजूरी देने से इनकार दिया है.

अफरीदी ने लिखा है, “मैं क्रिकेट की दुनिया और आईसीसी से भी अपील करता हूं कि वह भारत-पाक क्रिकेट मैच पर कड़ी निगाहें रखें क्योंकि यह पूरे विश्व में प्रंशसकों द्वारा पसंद किया जाने वाले अहम मैच होता है.” उन्होंने लिखा है, “मैं उम्मीद करता हूं कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज हो इसलिए मैं भारतीय क्रिकेट बोर्ड और भारत की सरकार से भी अपील करता हूं कि वह इस मुद्दे पर अपना रुख नरम करें.
इस दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी ने लिखा है, “2011 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत के खिलाफ मैंने कप्तानी की थी और इसलिए मुझे मालूम है कि इस मैच की कितनी अहमियत है और यह दो देशों को शांति की संदेश में बांध सकता है.” अफरीदी ने कहा कि इस तरह के मैच सिर्फ दो देशों को करीब ला सकते हैं. उन्होंने कहा, “क्रिकेट दोनों देशों को करीब लाने और तनाव कम करने में बेहद मददगार साबित हो सकता है. मैं पूरी दुनिया की तरह मैच के शुरू होने का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं.” उन्होंने लिखा, “हम सभी उम्मीद करते हैं कि हमें ऐसा मैच देखने को मिलेगा जो लंबे समय तक याद किया जाएगा.” दोनों देशों के बीच आखिरी द्विपक्षीय सीरीज 2012-13 में खेली गई थी. रविवार के मैच के बारे में बात करते हुए अफरीदी ने कहा कि हालांकि भारत ने लीग चरण में पाकिस्तान को हराया है लेकिन फाइनल के दिन उनकी टीम चुनौतीपूर्ण साबित हो सकती है.

Related Post

Comments

comments