जयपुर। आज क्रिकेट हमारा जूनून है लेकिन जब हमारे इस जूनून से ही कोई खिलवाड़ करे तो उसके साथ क्या किया जाए ऐसा ही हुवा है राजपूताना प्रीमियर लीग मै मानसरोवर स्थित केएल सैनी स्टेडियम में खेली जा रही राजपूताना प्रीमियर लीग फिक्सिंग के विवादों में फंस गई।

बीसीसीआई की एंटी करप्शन एंड सिक्योरिटी यूनिट ने जयपुर पुलिस कमिश्नर को एक पत्र देकर फिक्सिंग की शिकायत दर्ज कराई। इस पर बुधवार रात क्राइम ब्रांच की टीम ने कार्रवाई कर शहर के करीब आधा दर्जन होटलों से करीब 60 व्यक्यिों को हिरासत में लिया। वहां से पूछताछ के बाद छह खिलाडिय़ों और आठ अन्य सहित 14 व्यक्यिों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने होटलों से लाखों की नकदी और अन्य सामान जब्त कर लिया। और आगे भी ठोस कदम उठाए जा रहे है


पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने बताया कि बीसीसीआई ने शिकायत में बताया कि के.एल. सैनी स्टेडियम जयपुर में राजपूताना प्रीमियर लीग जारी है। इसमें 6 टीमें भाग ले रही हैं। इस टूर्नामेंट में मैच फिक्सिंग व सट्टेबाजी के लिए वजीर खान व बहारे खां जयपुर आए हुए हैं। ये दोनों व्यक्ति लीग के संचालक, खिलाड़ी व एम्पायर के साथ मिलीभगत कर स्पॉट फिक्सिंग व मैच फिक्सिंग कर बुकीज के माध्यम से अनुचित लाभ प्राप्त कर रहे हैं। इस टूर्नामेंट को नियो स्पॉटस चैनल पर भी लाइव दिखाया जा रहा है, जिससे लाखों खेल प्रेमियों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। प्रकरण की गंभीरता को देखकर प्रारंभिक जांच की गई। मामला सही पाए जाने पर कार्रवाई करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। गौर करने वाली बात है की वाइड+4 रन तो मानो इस प्रीमियर लीग मै ऐसे दिए जा रहे थे की मानो टीम जीतने के लिए नहीं बस हारने के लिए आई है

Comments

comments