पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने अचानक अपना फैसल बदलते हुये अपने खिलाड़ियों को कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) और इंग्लिश काउंटी क्रिकेट में उनकी फ्रैंचाइज़ी में खेलने की परमिसन दे दी है. पीसीबी ने पहले नो-ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट को रद्द करने के कुछ दिन बाद यह फैसला जारी किया
सीपीएल और काउंटी क्रिकेट में लौटने से पहले खिलाड़ियों को 22 से 24 अगस्त तक अपने फिटनेस परीक्षण देना होगा. पीसीबी चेयरमैन नजाम सेठी द्वारा राष्ट्रीय टी-20 विश्व कप की घोषणा के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों को विदेशी लीग में वापसी के रास्ते को साफ कर दिया गया है.

इस टूर्नामेंट के कारण पीसीबी खिलाड़ियों के एनओसी रद्द करने के लिए बाध्य हो गया था. हालांकि, इसे लाहौर में विश्व एकादश के साथ सीरीज़ की पुष्टि के बाद नवंबर तक के लिए सूचीबद्ध किया गया है.
सेठी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “जब हमने अपने घरेलू टूर्नामेंट की तारीखे तय की थी, तो उस दौरान विश्व एकादश सीरीज़ का आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं की गई थी. इस सीरीज़ को हमारे टूर्नामेंट के दौरान ही आयोजित किया जाना है. इस कारण खिलाड़ियों को उनके सीपीएल और काउंट क्रिकेट फ्रैंचाइज़ी में लौटने की अनुमति दे दी गई है और इससे हमारे खिलाड़ी भी खुश हैं अब देखना होगा की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) का ये फैसला कितना रंग लाता है

Related Post

Comments

comments