लंदन: क्‍वार्टर फाइनल की तरह बन गए चैंपियंस ट्रॉफी के आज के मुकाबले में दक्षिण अफ्रीकी टीम अच्‍छी शुरुआत के बावजूद बीच के ओवरों में बुरी तरह लड़खड़ा गई. मैच में कप्‍तान एबी डिविलियर्स सहित दक्षिण अफ्रीका के मध्‍यक्रम के बल्‍लेबाजों ने जिस तरह का प्रदर्शन किया उसे शर्मनाक ही कहना उचित होगा.

क्विंटन डिकॉक और हाशिम अमला की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 76 रन की पार्टनरशिप करके दक्षिण अफ्रीका को अच्‍छी शुरुआत दी थी, लेकिन आगे के बल्‍लेबाजों में तो मानो आउट होकर पेवेलियन लौटने की होड़ मची थी. विकेट के बीच दौड़ में भी दक्षिण अफ्रीकी टीम फिसड्डी साबित हुई और तीन बल्‍लेबाज रन आउट हुए.

पहले विकेट के लिए डिकॉक-अमला के बीच हुई 76 रन की साझेदारी के दौरान भारतीय खेमे में चिंता के भाव साफ पड़े जा सकते थे. पहले विकेट के रूप में अमला (35) के आउट होने के बाद डिकॉक को डुप्‍लेसिस के रूप में भी अच्‍छा साझेदार मिला. इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 40 रन की साझेदारी की. डिकॉक (53 रन, 72 गेंद चार चौके) के दूसरे विकेट के रूप 116 के कुल स्‍कोर पर (24.2 ओवर ) में आउट होने के बाद तो मानो विकेटों का पतझड़ शुरू हो गया. टीम के विस्‍फोटक बल्‍लेबाज एबी डिविलियर्स (16)और डेविड मिलर (1) ने बुरी तरह निराश किया. ये दोनों अनावश्‍यक रूप से रन आउट होकर पेवेलियन लौटे.

फाफ डुप्‍लेसिस (36) के रूप में दक्षिण अफ्रीका का पांचवां विकेट गिरने के बाद भारतीय खेमे को लगातार खुशी मिलती रही. एक-एक कर दक्षिण अफ्रीकी बल्‍लेबाज आउट होते रहे और भारतीय खिलाड़ि‍यों का जश्‍न मनता रहा. 44.3 ओवर पूरी अफ्रीकी टीम 191 रन बनाकर आउट हो गई. आखिरी बल्‍लेबाज इमरान ताहिर भी डिविलियर्स और डेविड मिलर की तरह रन आउट हुए.

Comments

comments